Aug 29, 2013

आतंकी हमले से निपटने के लिए तैयारी, अब मेट्रो स्टेशनों पर लगेंगे बुलेट प्रूफ मोर्चे



नई दिल्ली. आतंकी हमलों की आशंकाओं के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो के सभी स्टेशनों पर बुलेट प्रूफ मोर्चे लगाने का फैसला लिया गया है। इसके तहत सीआईएसएफ ने राजीव चौक पर दो, साकेत और मालवीय नगर मेट्रो स्टेशन पर एक-एक बुलेट प्रूफ मोर्चे बना दिए हैं।

जल्द ही अन्य मेट्रो स्टेशनों पर भी ऐसे मोर्चे लगा दिए जाएंगे। आतंकी हमले की स्थिति में इन मोर्चों पर विभिन्न नौ पोजिशन से फायरिंग करने की व्यवस्था की गई है। बुलेट प्रूफ मोर्चों के खास डिजाइन के चलते गोलियां वापस न जाकर इन्हीं मोर्चों पर फंस कर रह जाएंगी।

सीआईएसएफ के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार पिछली कुछ घटनाओं में देखा गया है कि बुलेट प्रूफ मोर्चे से गोली लगने के बाद छर्रे फिसल कर इधर-उधर चले जाते हैं। इसके चलते छर्रे के दूसरे लोगों को लगने का भय बना रहता था।

मेट्रो स्टेशनों पर मुसाफिरों की अत्यधिक भीड़ को देखते हुए खास डिजाइन पर तैयार किए गए बुलेट प्रूफ मोर्चों को लगाने का फैसला किया है। इन पर तीन तरह की परतें बनाई गई हैं। पहली परत प्लाईवुड की है। दूसरी परत और तीसरी परत के बीच पांच सेंटीमीटर का डेड स्पेस देकर स्टील लगाई गई है ताकि गोली लगने पर छर्रे स्टील की परत से टकराकर वापस प्लाईवुड की परत में फंस जाएंगे।


सीआईएसएफ के जिम्मे होगी मेट्रो स्टेशन की पूरी सुरक्षा व्यवस्था




मेट्रो स्टेशन के पेड एरिया की सुरक्षा व्यवस्था देख रही सीआईएसएफ को गृह मंत्रालय ने पूरे स्टेशन की सुरक्षा संभालने के निर्देश दिए हैं। गृह मंत्रालय ने सभी स्टेशनों पर अलग सीसीटीवी कंट्रोल रूम बनाने के लिए भी कहा है। इसके अतिरिक्त, सभी मेट्रो स्टेशनों पर सीआईएसएफ की क्विक रिएक्शन टीम को भी तैनात करने के लिए कहा गया है। इसके लिए जल्द ही मेट्रो में 3805 सीआईएसएफ के जवानों को तैनात किया जाएगा। वर्तमान समय में मेट्रो की सुरक्षा में 4869 जवानों की तैनाती की गई है।

Source..Bhaskar

मेट्रो की तर्ज पर मिलेगा रिचार्जेबल प्लेटफार्म कार्ड




पटना : मेट्रो रेल की तर्ज पर रेलवे जल्द ही प्लेटफार्म टिकट कार्ड उतारने जा रहा है। यह कार्ड प्री-पेड होगा, जिसमें आपको हर समय अपनी सुविधानुसार बैलेंस रखना होगा। यानी जब भी आप पटना जंक्शन जायेंगे, प्लेटफार्म पर जाने से पहले आपको प्लेटफार्म टिकट काउंटर के सामने लाइन में धक्के खाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जंक्शन के सभी गेटों पर लगी मशीन में आप अपना कार्ड स्वाइप करेंगे और उनको तत्काल प्लेटफार्म टिकट मिल जायेगा।

इस कार्ड का सबसे अधिक फायदा उन लोगों को होगा, जिन्हें अक्सर जंक्शन आना-जाना पड़ता है। अक्सर प्लेटफार्म टिकट काउंटर के बाहर खड़ी लाइन को देख कर ही लोग अपने रिश्तेदार को स्टेशन परिसर में उतार लौट जाते हैं। प्लेटफार्म कार्ड रहने पर आपको ऐसा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक यह कार्ड नियमित रूप से प्लेटफार्म टिकट लेने वालों के लिए ही उतारा जा रहा है। पहली बार कार्ड बनवाने के लिए कितने पैसे देने होंगे? इसकी वैधता कितने दिनों की होगी? यह निर्णय फिलहाल नहीं हुआ है। हां, इस कार्ड में कम से कम सौ रुपये का बैलेंस रखना होगा। इसके बाद आप बीस मर्तबा प्लेटफार्म पर आने-जाने के लिए अधिकृत रहेंगे। जैसे ही प्लेटफार्म के गेट पर लगी मशीन में कार्ड डालेंगे एक प्लेटफार्म टिकट मिलेगा। जिस पर तिथि व समय दर्ज होगा। टिकट पर ही आपके कार्ड का बैलेंस भी लिखा रहेगा। रेल प्रशासन जंक्शन के हर प्रवेश द्वार पर ऐसी कंप्यूटरीकृत मशीन लगाने की योजना बना रहा है।

Source..Jagran

दफ्तर में बैठे इंजीनियर रखेंगे एसी कोच पर नजर



दिल्ली रेल मंडल का प्रयोग सफल रहा तो आने वाले दिनों में एसी कोच में सफर करने वालों को एसी खराब होने की शिकायत का सामना नहीं करना पड़ेगा। इसके लिए दिल्ली रेल मंडल ऑनलाइन एसी मॉनिटरिंग सिस्टम विकसित कर रहा है। इसके लिए पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत हो गई है।

ट्रेनों के कोच में एसी खराब होने की शिकायत आती रहती है। इससे यात्रियों का सफर दुश्वारियों से भरा हो जाता है। वहीं रेलवे प्रशासन को भी नाराजगी झेलनी पड़ती है। कई बार नाराज यात्री हंगामा करते हुए वैकल्पिक व्यवस्था होने तक घंटों ट्रेन रोके रहते हैं। इससे रेल परिचालन बाधित होने के साथ ही राजस्व का भी नुकसान होता है। इस समस्या से निपटना हमेशा रेल प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती रही है।

इस समस्या को दूर करने के लिए दिल्ली रेल मंडल के इंजीनियर ऑनलाइन एसी मॉनिटरिंग सिस्टम विकसित करने में लगे हुए हैं। इसमें इंजीनियर अपने दफ्तर में बैठकर कंप्यूटर पर चलती ट्रेन के कोच में लगी हुई एसी की स्थिति पर नजर रख सकेंगे। कूलिंग व लोड की स्थिति के बारे में जानकारी हासिल करने के साथ हीं किसी तरह की खराबी का पता भी लगाया जा सकेगा। इसकी सूचना ट्रेन में तैनात कर्मचारी या नजदीकी स्टेशन को देकर खराबी को समय रहते ठीक किया जा सकेगा।

कंप्यूटर पर एसी के काम करने का रिकार्ड स्टोर होते रहने से भविष्य में इसमें होने वाली खराबी तथा इसके उत्पाद संबंधी खामियों का भी पता लगाया जा सकता है। यह व्यवस्था हो जाने से ट्रेनों में भेजे जाने वाले स्टॉफ की संख्या में भी कमी आएगी तथा उसे खराबी ढूंढने में मशक्कत भी नहीं करनी होगी। इस समय एसी के रखरखाव के लिए शताब्दी में दो टेक्निशियन तथा एक हेल्पर भेजा जाता है। वहीं राजधानी में पांच से छह कर्मचारी की टीम रहती है। इन ट्रेनों में ऑनलाइन एसी मॉनिटरिंग सिस्टम शुरू हो जाए तो इतने कर्मचारी भेजने की जरूरत नहीं रह जाएगी। इस तरह से मानव संसाधन का भी सही उपयोग सकेगा।

नाममात्र के खर्च पर मिलेगी सुविधा

इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट पर काम कर रहे इंजीनियरों ने बताया कि इस सिस्टम को विकसित करने में खर्च भी नहीं के बराबर है। इसके लिए एसी के कॉम्पेक्ट कंट्रोलर में सेंसर लगाया जा रहा है। फिलहाल जिस कंपनी का कंट्रोलर है, वहीं सेंसर लगा रही है। कुल मिलाकर कुछ हजार रुपये का खर्च आ रहा है, लेकिन इससे फायदे कई होंगे।

एसएमएस से भी मिलेगी जानकारी

एसी के कॉम्पेक्ट कंट्रोलर में लगे सेंसर से इससे जुड़े कंप्यूटर पर जानकारी मिलने के साथ हीं संबंधित अधिकारी के मोबाइल फोन पर भी अलर्ट आया करेगा। इससे अधिकारी कंप्यूटर के सामने नहीं हों तो भी उन्हें चलती ट्रेन के एसी में किसी तरह की खराबी की जानकारी मिल जाएगी।

कालका शताब्दी में हो रहा है प्रयोग

फिलहाल कालका शताब्दी (12005/12006) में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इस सिस्टम को लगाया गया है। सफलता मिलने पर पहले शताब्दी व राजधानी ट्रेनों में इसे लगाया जाएगा। दिल्ली रेल मंडल से इस समय 11 शताब्दी व 14 राजधानी ट्रेनों का परिचालन कर रहा है।

कोट्स---------

पायलट प्रोजेक्ट के परिणाम उत्साहव‌र्द्धक रहेंगे। ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम से एसी कोच के रखरखाव में होने वाली परेशानी दूर हो जाएगी। - अजय माइकल, जनसंपर्क अधिकारी, दिल्ली रेल मंडल

Source..Jagran

मुगलसराय स्टेशन को उड़ाने की धमकी



मुगलसराय(चंदौली): तीन दिन पूर्व स्थानीय जंक्शन को उड़ाने की धमकी भरे एक गुमनाम पत्र ने समूचे रेल प्रशासन की नींद उड़ा दी है। पत्र को गंभीरता से लेते हुए जहां सुरक्षा एजेंसियां सतर्क कर दी गई हैं वहीं हर स्तर से जांच पड़ताल की जा रही है। पत्र में नामित एक व्यक्ति को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ कर रही है।

तीन दिन पूर्व मंडल रेल प्रबंधक अनूप कुमार को रजिस्टर्ड डाक से एक गुमनाम पत्र मिला। उसमें लिखा था कि डेढ़ावल, सकलडीहा निवासी मनोज तिवारी, जो जनपद में ही फार्मासिस्ट है, का आतंकवादी संगठन से संबंध है। उसकी 28, 29 व 30 अगस्त को मुगलसराय स्टेशन पर जबर्दस्त धमाका करने की योजना है। डीआरएम ने पत्र वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त एके बरनवाल को देकर गंभीरता पूर्वक जांच पड़ताल कराने का निर्देश दिया। इस संबंध में एसपी चंदौली, एसपी जीआरपी इलाहाबाद, आइबी समेत अन्य उच्चाधिकारियों को भी सूचना दी गई। इसके बाद आरपीएफ व जीआरपी ने संयुक्त रूप से बुधवार को जंक्शन की सघन जांच पड़ताल की।

अधिकारियों के अनुसार प्रथम दृष्टया आरोपित व्यक्ति बेगुनाह दिखाई पड़ा। चूंकि पत्र प्रेषक ने अपना नाम व पता छिपाया है तो ऐसा भी हो सकता है कि दुश्मनीवश फंसाने के लिए उक्त व्यक्ति का नाम डाल दिया गया हो। हालांकि रेल प्रशासन इसे गंभीरता से लेते हुए पूरी सतर्कता बरत रहा है। जंक्शन पर फोर्स संग खोजी डाग दस्ते ने भी जांच पड़ताल की।

फर्जी लग रहा है मामला : डीआरएम

मंडल रेल प्रबंधक अनूप कुमार ने बताया कि दो तीन दिनों पूर्व डाक से मिले उक्त पत्र पर भेजने वाले का नाम पता अंकित नहीं है। पत्र में एक व्यक्ति को आतंकवादी संगठन का सदस्य बताते हुए लिखा गया है कि वह स्टेशन पर धमाका करने वाला है। पत्र सुरक्षा आयुक्त आरपीएफ को सौंप दिया गया जो मामले की जांच पड़ताल कर रहे है। वैसे मामला फर्जी प्रतीत हो रहा है।

सतर्क है सुरक्षा एजेसिंया : कमांडेंट

वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त एके बरनवाल ने बताया कि पत्र में नामित व्यक्ति के बाइक संख्या यूपी 67 एच 9091 के आधार पर भी जांच पड़ताल की गई है। उसमें भी कुछ पता नहीं चला है। फिर भी जंक्शन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये है। फिलहाल सुरक्षा की दृष्टि से फोर्स को सतर्क कर दिया गया है।

Source..Jagran

पुरानी दिल्ली स्टेशन पर ट्रेनों के प्लेटफॉर्म बदले



जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से यदि आप सफर शुरू करने जा रहे हैं तो प्लेटफॉर्म पर पहुंचने से पहले इस बात की जानकारी हासिल कर लें कि आपकी ट्रेन कितने नंबर प्लेटफॉर्म पर खड़ी होगी, अन्यथा आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल प्लेटफार्म नंबर नौ और दस पर मरम्मत कार्य के लिए अगले एक माह तक बारी-बारी से ट्रेनों की आवाजाही नहीं होगी।

पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म नंबर नौ व दस पर मरम्मत कार्य चल रहा है, जिस कारण 28 अगस्त से 11 सितंबर तक प्लेटफॉर्म नंबर दस से ट्रेनों की आवाजाही रोक दी गई है। जबकि 12 से 27 सितंबर तक प्लेटफॉर्म नंबर नौ बंद रखा जाएगा। प्लेटफॉर्म नंबर दस को बंद रखने की वजह से बुधवार को इस प्लेटफॉर्म पर आने व जाने वाली ट्रेनों को दूसरे प्लेटफॉर्म पर स्थानांतरित करना पड़ा है। जिससे दूसरे प्लेटफॉर्म पर बोझ बढ़ गया। परिणामस्वरूप कई दूसरे प्लेटफॉर्म पर नियमित रूप से आने व वहां से जाने वाली ट्रेनों के स्थान में भी बदलाव किया गया है। रेलवे अधिकारियों के अनुसार मंगलवार मध्य रात्रि से बुधवार शाम तक लगभग 50 ट्रेनों के प्लेटफॉर्म बदलने पड़े हैं।

वहीं ट्रेनों के प्लेटफॉर्म बदले जाने से यात्रियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि, उत्तर रेलवे की ओर से प्लेटफॉर्म नंबर दस के बंद रखे जाने की सूचना देने के लिए अखबारों में विज्ञापन भी प्रकाशित कराया गया है। इसके बावजूद अधिकांश यात्रियों को इस बारे में पता नहीं था। सबसे ज्यादा परेशानी स्थानीय यात्रियों को हुई। विवेक विहार जाने के लिए पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के ग्यारह नंबर प्लेटफॉर्म पर ट्रेन का इंतजार कर रहे राजीव सक्सेना व मोहित शर्मा ने बताया कि उनकी ट्रेन रोजाना प्लेटफॉर्म नंबर दस से रवाना होती है। इसलिए वे रोजाना की तरह प्लेटफॉर्म नंबर दस की ओर जाने लगे तो उन्हें जानकारी मिली कि अगले एक पखवाड़े तक यह प्लेटफॉर्म बंद है। फिर जानकारी हासिल करने के बाद वे प्लेटफॉर्म नंबर ग्यारह पर पहुंचे हैं। वहीं कुछ यात्रियों का कहना था कि विज्ञापन में दस नंबर प्लेटफॉर्म वाली ट्रेनों को नौ नंबर प्लेटफॉर्म पर बदले जाने की बात कही गई थी, लेकिन यहां स्थिति कुछ और है।

इस संबंध में रेलवे अधिकारियों का कहना है कि कुछ ट्रेनों के समय को ध्यान में रखते हुए उनके प्लेटफॉर्म में बदलाव करना पड़ा है। यात्रियों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो इसलिए इसकी सूचना डिस्पले करने के साथ हीं अनाउंसमेंट भी कि जा रहा है। यात्री किसी तरह की परेशानी से बचने के लिए पहले डिस्पले बोर्ड देखकर आश्वस्त हो जाएं कि उनकी ट्रेन किस प्लेटफॉर्म पर खड़ी होगी।
Source..Jagran

 

NEXT POST

EMPLOYEE NEWS CENTER

READ MORE -

Rail News - Public service (4210) Rail News - Public service (3470) Rail News - Rail Employee (2318) DIVISION - JABALPUR (357) Rail News - Rail Development (315) News - Spl Train (262) News - General (225) DIVISION - BHOPAL (202) Rail News - Job - Career (200) Rail news - Metro (193) Rail News - Circulars (138) DIVISION - HUBLI (128) DIVISION - MORADABAD (122) Office Order (105) DIVISION - ALLAHABAD (93) World Rail News (85) Rail news - Public Alert (79) News - Loco Pilot (73) Rail News - Rail Budget (69) HIGH SPEED RAIL (68) Rail News - 7th Pay Commission (62) Rail News - New Train (61) Improvement in Facilities (58) Rail News - Railway Safety (58) Accidents (55) Rail Development (54) Rail news - World Rail (49) Rail News - Tourism (38) News- Railway Exam Result (35) Rail News - Freight Services (35) DIVISION - Delhi (34) Public Interest (32) Rail News - Sports (32) Trade Union (32) Award (30) Bonus (PLB) (30) PIB (29) Bullet train (28) new line (26) IRCTC (25) News - Dearness Allowance (24) Station Master (23) TATKAL TICKET (22) RPF / RPSF (21) Railway News - Metro (20) Complaint and Suggestions (19) Rail News - Security (19) News - Catering (18) News - Job - Career (18) Mumbai local (17) Railway Pensioners (17) Railway time table (17) News - New Tech (16) News - Railway Employee (16) ‘Premium’ Special Trains (15) Circulars - Govt of India (14) Rail News - Railway Revenue (14) Rail news - Employment Notification (14) Railway News - Delhi Metro (14) Know About (13) Rail News - Special Train (13) Scam (13) Railway Board (12) Railway Joke (12) Catering Related Complaints (11) DIVISION - RAIPUR (11) Freight Corridor (11) Rail News - Security (11) Dedicated Freight Corridors (10) AISMA (9) Rail News - New Rail Line (9) Budget (8) DIVISION - Ambala (8) Employee News (8) News - Exam Result (8) PHOTO (8) Passenger Amenities (8) Premium Air-Conditioned (8) Railway pass (8) World Rail - China (8) fares hikes (8) semi-high speed (8) INCOME TAX (7) Indian Railway History (7) Night Duty Allowance (7) Rail Accidents (7) Rail budget (7) online tickets (7) Central Railway (6) International Railway (6) Mono Rail (6) Mumbai Metro (6) News - Budget (6) Public Grievances (6) Rail Fares (6) Railway Safety (6) Ticket Booking (6) World Rail - Japan (6) extra coaches (6) guard (6) Always Important (5) Drinking Water (5) HELP (5) Holiday Trains (5) IRCON (5) LOCOMOTIVE (5) Zone - Western Railway (5) booking counters (5) hi-tech (5) macp (5) Coaches (4) Food plazas (4) IMPORTANT RULE (4) Mumbai (4) News - Railway Rule (4) RAIL TEL (4) Rail History (4) Rail Neer (4) Rail News - Business (4) Rail News - Rules (4) Railway Minister (4) Train Cancellation (4) World Rail - Pakistan (4) Zone - South Central Railway (4) e-ticket booking (4) escalators (4) AIR - RAIL (3) Booking - Parcel (3) CCTV (3) Children Education Allowance (3) DOUBLE DECKER TRAIN (3) Electrification (3) Konkan railway (3) Medical Allowance (3) Member Engineering (3) Modal Question Paper (3) News- Railway Exam (3) PASS (3) Question Bank (3) Rail News - China (3) Rail fare hike (3) Suvidha Train (3) TRANSFER POLICY (3) VAISHNO DEVI (3) reservation (3) tatkal ticket (3) Booking - Luggage (2) D & A RULE (2) Extension of train services (2) Khumbn Mela (2) LDCE (2) Leave Rule (2) MATHERAN (2) MOBILE APPS (2) Minister of State for Railways (2) National Rail Museum (2) News - Rail Road (2) News -World Film (2) OROP (2) Passenger Reservation System (2) Police help desk (2) Provident Fund interest (2) Rail News - Goods Train (2) Railway Protection Force (2) Railway Proud (2) Railway Stations (2) Retiring Rooms (2) Revenue earnings (2) South Eastern Railway (2) Zone - East Central Railway (2) Zone - N E RLY (2) Zone - Northern Railway (2) Zone - Southern Railway (2) new pension scheme (2) ALER (1) Air Travel (1) DIVISION - CENTRAL RAILWAY (1) DIVISION - MADURAI (1) DIVISION - VIJAYWADA (1) Directory (1) Division - Rangia (1) FOOT OVER BRIDGE (1) FORMS (1) Government Railway Police (1) House Rent Allowance (1) Interesting Facts (1) JAIPUR (1) LARGESS (1) LONDON (1) Lifeline Express (1) MST (1) Measures Against Fire (1) Medical Care (1) Ministry of Railway (1) News - TV (1) Passenger Security (1) RDSO (1) Rail - Roko (1) Rail Bridges (1) Rail News - Privatization (1) Rail News - Bengali (1) Rail News - Consumer Forum (1) Rail Tariff (1) Rail Tenders (1) Rail e-tickets (1) Railway Act (1) Railway Quarter (1) Railway Week (1) Rath Yatra (1) Road over Bridges work (1) SCRA (1) SKY BUS (1) Sainagar Shirdi (1) Suburban trains (1) Swadeshi (1) TRAVELLING ALLOWANCE (1) Ticket Examiner Staff (1) Track Man (1) WhatsApp (1) World Rail - New York (1) World Rail - Russia (1) World Rail - USA (1) World Rail - Washington (1) Zone - E RLY (1) Zone - N C RLY (1) Zone - North Western Railway (1) Zone - Northeast Frontier Railway (1) Zone - S E Railway (1) fire-fighting equipment (1) mobile ticket booking (1) railway station (1) smart card (1) wagon factories (1)

7th Pay Commission & Employee News Center

Followers