Jul 30, 2015

Railways Minister Suresh Prabhu approves an award of Rs. 50000 to railway employee Shri Ashwani Kumar

Minister of Railways Shri Suresh Prabhakar Prabhu has approved an award of Rs. 50000 to railway employee Shri. Ashwani Kumar for his alertness and courage in detecting the bomb and saving the lives of hundreds of passengers in Punjab. Shri. Ashwani Kumar is working as Keyman of a gang on pathankot- Amritsar section of Firozpur division of Northern Railway.

On 27-07-2015 a terrorist attack was made in Gurdaspur district of Punjab in early morning hours. A suspected bomb type object was planted on bridge no 236 on Pathankot-Amritsar Railway Line (near Dinanagar). Keyman Shri. Ashwani Kumar while doing patrolling duty detected the same at around 6:00 hrs. He immediately swung into action and ran in the direction from where Train No 54612 was approaching towards the bridge. Without caring for his personal safety, he managed to stop the train before the bridge.

The daring act of Shri. Ashwani Kumar, Keyman saved the lives of hundreds of passengers who were travelling in the train and saved major bridge from damaging in Pathankot- Amritsar section. On account of his attentiveness and vigilance, a major mishap was thus averted.

He has now been awarded for his commendable performance, courage and dedication to duty.
Source - PIB

Railways start online survey on preference of bedrolls

New Delhi: With a view to improving passenger amenities and services, the Railways Ministry has started an online survey on consumers' preference of bedrolls which will cover aspects from cleanliness and hygienic conditions to their colour and design choice.

The ministry has uploaded a detailed questionnaire on its website www.Indianrailways.Gov.In on bedrolls such as bed sheets, towels, pillows and blankets used during travel on trains.

Mumbai: Western Railway will not have mobile jammers in local trains

The recommendation for jammers had been made by the inquiry committee looking into the Churchgate incident when a train overshot a platform

The recommendation of having mobile phone jammers inside the motorman’s cabin in local trains has been shot down by the Western Railway (WR) authorities.

It is not just the inconvenience caused to women commuters travelling in the compartment near the cabin; but also the fact that there are possibilities of technical glitches in the train’s equipment that could affect its handling. mid-day had reported on this recommendation.

The recommendation for setting up jammers in the motorman’s cabin was put forth by the inquiry committee looking into the Churchgate accident, after it was found the guard of the train had spoken for 187 seconds on his mobile phone.

The train accident at Churchgate on June 28, wherein the local climbed onto platform no 3. File pic

“There are possibilities that the jammers might affect the equipment inside the motorman’s cabin as well. Moreover, these would cover a blanket area of 20 metres that might inconvenience commuters as well,” said a WR official.

Officials also feared that the jammers would cause inconvenience to commuters who travel in the first ladies compartment. No commuter travelling in the ladies compartment would have been able to use her cell phone even in case of emergencies.

The motorman is assigned a cell phone apart from his private mobile phone, by the railways, which needs to be switched off while maneuvering a train. But in case of emergency, the cell phone comes in handy while speaking to officials, apart from the walkie-talkie that helps in connecting with the control room.

SOURCE - mid-day

अब सेंसर से ऑटोमैटिक खुलेंगे रेलवे फाटक

लखनऊ

रेलवे फाटक पर पटरियों की दोनों दिशाओं में सेंसर फिट है। जैसे ही ट्रेन सेंसर को पास करेगी रेलवे फाटक बंद हो जाता है। जब ट्रेन दूसरे सेंसर को क्रॉस करेगी तो फाटक खुल जाएगा। ये रेलवे की कोई नई परियोजना नहीं बल्कि इंस्पायर अवॉर्ड प्रदर्शनी में 8वीं के छात्र की ओर से प्रस्तुत किया गया मानवरहित ऑटोमैटिक रेलवे फाटक मॉडल था। पूर्व माध्यमिक विद्यालय सरैया, सरोजनीनगर के दीप साहू ने यह मॉडल प्रस्तुत किया।

राजकीय जुबली इंटर कॉलेज में बुधवार को केंद्र सरकार की ओर से इंस्पायर अवॉर्ड प्रदर्शनी का आयोजन हुआ। इसमें जूनियर हाईस्कूल के छात्रों ने अपने वैज्ञानिक मॉडल प्रस्तुत किए। पहले दिन बीकेटी, सरोजनीनगर, माल और मोहनलाल गंज ब्लॉक के लगभग 150 बच्चों के मॉडल प्रदर्शनी में शामिल किए गए। वहीं गुरुवार को चिनहट मलिहाबाद और गोसाईंगंज ब्लॉक के लगभग 160 से अधिक रजिस्ट्रेशन हैं। इसमें जो छात्र क्वालीफाई करेंगे वे मंडल स्तर पर आयोजित होने वाली प्रदर्शनी में शामिल होंगे।

रेलवे ब्रिज के बाद इंटरलॉकिंग टाइल्स भी धंसी, प्लेटफॉर्म में आईं दरारें




इंदौर. इंदौर की मीटरगेज को ब्रॉड गेज में बदलने के दौरान हुए नए निर्माणों में कॉन्ट्रेक्टर ने बड़ा घपला किया है। जिस तरह का काम मौके पर नजर आ रहा है उससे रेलवे के अफसरों की सांठगांठ का भी अंदेशा है।

रेलवे के इंजीनियरों को निर्माण कार्यों की मॉनीटरिंग करना थी लेकिन उन्होंने कॉन्ट्रेक्टर्स को खुली छूट देकर न केवल करोड़ों का निर्माण घटिया तरीके से पूरा करवाया बल्कि उस पर प्लास्टर चढ़ाकर लीपापोती तक करवा दी। चीफ इंजीनियर के दौरे के बाद भी कॉन्ट्रेक्टर्स-इंजीनियर के खिलाफ कोई कड़ी कार्रवाई नहीं हो पाई। रेलवे के ही अफसरों का कहना है कि मामला इतना गंभीर है कि इसमें सीधे एफआईआर दर्ज करवाई जाना चाहिए।

लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन पर कॉन्ट्रेक्टर और अफसर-इंजीनियरों की मिलीभगत से बने घटिया क्वालिटी के फुट ओवरब्रिज को देखने के लिए शुक्रवार को मुंबई से रेलवे के चीफ इंजीनियर (कंस्ट्रक्शन) केके गुप्ता इंदौर आए थे। उन्होंने राजकुमार ब्रिज के पास बने नए प्लेटफॉर्म को भी देखा। यहां भी इंटरलाकिंग टाइल्स धंसी मिली थी।

प्लेटफॉर्म भी कई जगह से ऊंचा-नीचा बना है। निर्माण देखने के बाद गुप्ता मौके पर ही अफसरों पर नाराज हुए। माना जा रहा था कि वे कोई कार्रवाई करते हुए लौटेंगे लेकिन किसी कॉन्ट्रेक्टर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। उक्त दो स्टेशनों के अलावा बालोदा टाकून, पालिया और अजनोद में हुए घटिया निर्माण को तो आला अफसरों ने अभी तक देखा ही नहीं है। इस मामले में बुधवार को डीआरएम को फिर एक शिकायत की गई है जिसमें उनके उक्त स्टेशनों पर हुए घटिया निर्माण की जांच और दोषी अधिकारियों व कॉन्ट्रेक्टर के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है।
SOURCE - BHASKERPUB

सीमेंट कंपनी की पकड़ी गई चोरी, एक करोड़ की पैनाल्टी लगाई - See more at: http://naidunia.jagran.com/madhya-pradesh/jabalpur-railway-panalty-436763#sthash.svaDB0iV.dpuf



जबलपुर। रेल मंडल की मालगाड़ियों में क्षमता से अधिक माल ढोया जा रहा है। रेलवे को ज्यादा माल की ढुलाई होने पर भी सीमेंट कंपनियां तय किराया ही देती हैं। कुछ इस तरह के एक मामले का पश्चिम मध्य रेल की विजिलेंस टीम ने खुलासा किया है। रेलवे विजिलेंस ने सीमेंट कंपनी की चोरी पकड़ने के बाद उसपर एक करोड़ की पैनाल्टी लगाई है।

सूत्र बताते हैं कि विजिलेंस को किसी ने खबर दी थी कि जेपी सीमेंट कंपनी का एक रैक (मालगाड़ी) सकरिया स्टेशन से निकला है। यह मालगाड़ी 59 डिब्बों की है, जिसमें क्िलकर लदा है। इस रैक का वजन ज्यादा है, लेकिन रेलवे के रिकॉर्ड में कम वजन दर्ज किया गया है। इस खबर पर रेलवे के डिप्टी सीबीओ आशीष वर्मा ने एसबीओ अरुण शर्मा को कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने विजिलेंस इंस्पेक्टर वासुदेव सरकार, दीप अग्रवाल, आरएन बैरवां को तुरंत कार्रवाई करने रवाना कर दिया। विजिलेंस टीम ने सतना स्टेशन के पास जेपी सीमेंट कंपनी का रैक रोककर शासकीय बे-ब्रिज मशीन पर दोबारा वजन कराया। इस दौरान मालगाड़ी के सभी डिब्बों में कुल 325 टन क्िलकर ज्यादा लदा मिला।

एक करोड़ का जुर्माना

विजिलेंस टीम ने जेपी सीमेंट कंपनी की गड़बड़ी पकड़ ली। इस टीम ने मामले की वरिष्ठ अधिकारियों को खबर दी, जिनके निर्देश पर सीमेंट कंपनी पर एक करोड़ का जुर्माना लगाया। अभी इस मामले की जांच जारी है, जिसमें नए खुलासे होने के आसार हैं।

रेलकर्मी ही दोषी

जानकार बताते हैं कि रेल मंडल के सतना स्टेशन के आसपास कई सीमेंट फैक्टरियां लगीं हैं। सीमेंट फैक्टरियों में कच्चे माल की आपूर्ति मालगाड़ियों से होती है। इन मालगाड़ियों के डिब्बों में लदे माल का वजन विभिन्न स्टेशनों में लगी रेलवे की बे-ब्रिज मशीनों में दर्ज होता है। कतिपय रेलकर्मी ही बे-ब्रिज मशीनों से छेड़छाड़ कर सीमेंट कंपनियों को लाभ पहुंचाते हैं।

SOURCE - naidunia

चंडीगढ़ स्टेशन पर चलेंगे रेलवे पुलिस के ऑटो

रेलवे स्टेशन पर ऑटो संचालन का जिम्मा खुद जीआरपी संभालने जा रही है। पिछले दिनों सवारियों को लेकर टैक्सी और ऑटो चालकों की भिड़ंत से जीआरपी की काफी किरकिरी हुई थी।

रेलवे स्टेशन पर बुधवार को ऑटो संचालकों और जीआरपी थाना प्रभारी की बैठक हुई। इसमें दिल्ली की तर्ज पर प्लानिंग तैयार की गई। इसके तहत जीआरपी के प्रीपेड बूथ से ऑटो बुक करवाए जा सकेंगे। ऑटो चालक किसी यात्री को अपनी मर्जी से नहीं बैठा सकेंगे। अगर वे ऐसा करेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

ऑटो चालकों का पूरा डाटा फीड होगा 
प्रीपेड बूथ से आटो का संचालन करने के लिए जीआरपी थाना पहले ऑटो चालकों से संबंधित डाटा इकट्ठा करके कंप्यूटर में फीड करेगी। 

प्रीपेड बूथ शुरू होने के बाद ऑटो चालकों का स्टेशन पर प्रवेश पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा। इसके अलावा पिक एंड ड्राप में भी एक भी ऑटो खड़ा नहीं होगा। चालक पार्किंग में ऑटो खड़ा करेंगे। इसके बाद वह प्रीपेड बूथ से अपना नंबर लेंगे।

कोट
यात्री को बूथ पर तैनात जवान को बताना होगा कि उन्हें कहां जाना है और उनके साथ कितने लोग हैं। इसके बाद जवान निर्धारित दर के मुताबिक पर्ची कटा कर यात्री को देगा। जिस पर ऑटो चालक का नाम, मोबाइल नंबर और ऑटो का नंबर लिखा होगा। 

इसके अलावा प्रीपेड बूथ के कंप्यूटर में यात्री को ले जाने वाले आटो चालक की पूरी जानकारी होगी। यदि वह किसी यात्री के साथ दुर्व्यवहार करता है तो यात्री जीआरपी के हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत दर्ज करवा सकेंगे।

SOURCE - AMAR UJALA

रेलवे ने तत्काल टिकट के नियमों में संशोधन किया

संशोधित नियमों के तहत, अब यात्रियों को तत्काल टिकट लेते वक्त किसी भी पहचान पत्र की फोटो कॉपी नहीं देनी होगी

नई दिल्ली। रेल यात्रियों को राहत देते हुए रेल मंत्रालय ने तत्काल टिकटों के आरक्षण के समय पहचान पत्र देने के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। इसकी घोषणा मंगलवार को की गई। संशोधित नियमों के तहत, अब यात्रियों को तत्काल टिकट लेते वक्त किसी भी पहचान पत्र की फोटो कॉपी नहीं देनी होगी। न ही इंटरनेट से टिकट लेते वक्त आपको इसकी जानकारी देनी होगी।





वेस्टर्न रेलवे की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया है कि तत्काल टिकट पर समूह में यात्रा करने वाले यात्रियों में से एक को अपने पहचान पत्र की मूल प्रति दिखानी होगी। पहचान पत्र के रूप में यात्री पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, स्कूल/कॉलेज की ओर से जारी पहचान पत्र, केंद्र या राज्य सरकारों द्वारा जारी किए गए पहचान पत्र, राष्ट्रीय बैंकों की ओर से जारी फोटो युक्त पासबुक या लेमिनेटेड फोटो युक्त के्रडिट कार्ड दिखा सकता है।





वक्तव्य के मुताबिक, तत्काल टिकट पर यात्रा करने वाले यात्री राज्य/केंद्र सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, जिला प्रशासनों, स्थानीय निकायों और पंचायत प्रशासन द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र भी दिखा सकता है।



उल्लेखनीय है कि वर्तमान निर्देशों के अनुसार, रिजर्वेशन काउंटरों से तत्काल टिकट बुक करवाते वक्त यात्री को उक्त पहचान पत्रों में से किसी एक की फोटो कॉपी देनी पड़ती थी जो वह यात्रा करते वक्त अपने पास रखेगा। उस पहचान पत्र की संख्या टिकट और रिजर्वेशन चार्ट पर दी जाती है। वहीं, इंटरनेट से रिजर्वेशन करवाते वक्त पहचान पत्र की जानकारी और उसके नंबर के बारे में जानकारी देनी होती है। यात्रा के दौरान टीटी इसकी जांच करता है। 
SOURCE - patrika

देबराय समिति के सुझाव खारिज



देबराय समिति के सुझाव खारिज

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। रेलवे बोर्ड ने बिबेक देबराय समिति की रिपोर्ट को प्रथमदृष्ट्या खारिज कर दिया है। बोर्ड का मानना है कि समिति की अंतरिम और अंतिम रिपोर्ट में भारी अंतर होने से रिपोर्ट को लेकर गलत संदेश गया है। इसके अलावा रिपोर्ट की कई सिफारिशें अव्यावहारिक हैं। देबराय समिति की रिपोर्ट पर चर्चा के लिए पिछले सप्ताह पूर्ण रेलवे बोर्ड की बैठक हुई थी।

सूत्रों के अनुसार इसमें बोर्ड के ज्यादातर सदस्यों का कहना था कि अंतरिम रिपोर्ट के कई सुझावों पर पहले ही काम चल रहा है। अगर अंतिम रिपोर्ट के अव्यावहारिक सुझावों को लागू करने की कोशिश की गई तो वह प्रक्रिया भी रुक जाएगी और औद्योगिक अशांति का खतरा पैदा हो जाएगा। इसलिए अंतिम रिपोर्ट को फिलहाल अलमारी में बंद रखना चाहिए।

‘Introduce nominal reservation charges for day travel’

The Hyderabad Karnataka Chamber of Commerce and Industry (HKCCI) has demanded that the Central Railways introduce a system to collect nominal reservation charges for people travelling to Solapur from Kalaburagi in reservation coaches during day-time. In a letter to the Divisional Railway Manager at Solapur, HKCCI secretary Amarnath Patil said hundreds of passengers travel in day trains from Kalaburagi Railway Station to Solapur to attend works including visiting hospitals there. He said these passengers travelling in reservation compartments were being harassed by the Railways staff and huge fines ranging from Rs. 350 to Rs. 450 were being collected from them

As the passengers were travelling during the day without disturbing passengers with reservation, they should be allowed to travel, at least by standing in the reservation coaches, by adding nominal reservation charges to the ordinary ticket fare, he added.

SOURCE - THE HINDU

‘Introduce a superfast express in memory of Kalam’

The Air, Rail, and Road Travellers’ Federation, Tiruchi, has urged the Railway Minister to introduce a superfast express from Rameswaram to New Delhi and name it as “Kalam Express.”

In a memorandum sent to the Railway Minister, its president M. Sekaran said Dr. Kalam had urged the railways to introduce a superfast express train from Rameswaram to Chennai. So, it should introduce a superfast express from Rameswaram to New Delhi instead of up to Chennai. The train should be named as “Kalam Express.”

SOURCE - THE HINDU

‘AP Express to commence operation soon’

The AP Express between Vijayawada and New Delhi would commence operations soon after a declaration by the Railway Board, according to SCR DRM Ashok Kumar .

This is in the wake of A.P. Express being renamed as “Telangana Express” for the trains between Hyderabad -New Delhi from November 15, Mr. Kumar said.

SOURCE - THE HINDU

यात्रियों की सुविधाओं के लिए रेलवे ने की पहल जरूरत पर बढ़ेंगे जनरल कोच

वाराणसी (ब्यूरो)। यात्रियों की सुविधा के लिए रेल प्रशासन अब जरूरत के आधार पर ट्रेनों में साधारण श्रेणी के अतिरिक्त कोच लगाएगा। वाराणसी मंडल में चलने वाली चार जोड़ी मेल, एक्सप्रेस गाड़ियों में अतिरिक्त जनरल कोच लगाने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। ये अतिरिक्त जनरल कोच जरूरत के आधार पर अस्थाई तौर पर लगाए जाएंगे।
किस ट्रेन में कब से कब तक अतिरिक्त कोच ः15017 लोकमान्य तिलक टर्मिनल-गोरखपुर एक्सप्रेस में लोकमान्य तिलक टर्मिनस से साधारण श्रेणी का एक कोच तीन अगस्त से 15 दिसंबर तक लगाया जाएगा। इसी प्रकार 15018 गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस में गोरखपुर से साधारण श्रेणी का एक कोच एक अगस्त से 15 दिसंबर तक लगाया जाएगा।
ः 15025 मऊ जंक्शन-आनंद विहार टर्मिनस एक्सप्रेस में मऊ जंक्शन से साधारण श्रेणी के दो कोच दो अगस्त से 13 दिसंबर तक लगाए जाएंगे। इसी प्रकार 15026 आनंद विहार-मऊ जंक्शन एक्सप्रेस में आनंद विहार टर्मिनस से साधारण श्रेणी के दो कोच 31 जुलाई से 14 दिसंबर तक लगाए जाएंगे।
ः 15107 छपरा-मथुरा जंक्शन एक्सप्रेस में छपरा से साधारण श्रेणी के दो कोच तीन अगस्त से 14 दिसंबर तक लगाए जाएंगे। इसी प्रकार 15108 मथुरा जंक्शन-छपरा एक्सप्रेस में मथुरा जंक्शन से साधारण श्रेणी के दो कोच तीन अगस्त से 14 दिसंबर तक लगाए जाएंगे।
ः 15115 छपरा-दिल्ली जंक्शन एक्सप्रेस में छपरा से साधारण श्रेणी के दो कोच एक अगस्त से 12 दिसंबर तक लगाया जाएगा। 15116 दिल्ली जंक्शन-छपरा एक्सप्रेस में दिल्ली जंक्शन से साधारण श्रेणी के दो कोच दो अगस्त से 13 दिसंबर तक लगाए जाएंगे।

•वाराणसी मंडल की चार जोड़ी मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए निर्देश
SOURCE - amarujala

जंक्शन के प्लेटफार्म नौ-दस की बढ़ेगी लंबाई

इलाहाबाद (ब्यूरो)। इलाहाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर नौ और दस की लंबाई बढ़ाये जाने की तैयारी रेलवे ने शुरू कर दी है। रेल प्रशासन जंक्शन स्थित प्लेटफार्म नंबर नौ और दस को 24 कोच की ट्रेनों के खड़े होेने लायक बनायेगा। इस संबंध में मंगलवार को डीआरएम वीके त्रिपाठी ने जंक्शन का निरीक्षण भी किया था।
इलाहाबाद जंक्शन पर अन्य प्लेटफार्म के मुकाबले नंबर नौ आर दस की लंबाई काफी कम है। इन दोनों प्लेटफार्म पर 18 से 20 कोच वाली ट्रेनें ही खड़ी हो पाती हैं। जबकि 24 कोच वाली ट्रेन का काफी हिस्सा प्लेटफार्म के बाहर ही रह जाता है। इसे देखते हुए लंबे समय से तैयारी की जा रही थी कि जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर नौ और दस को 24 कोच वाली ट्रेन के लिए बनाया जाय। मंगलवार को डीआरएम के निरीक्षण के बाद यह तय हो गया कि इन दोनों प्लेटफार्म की लंबाई बढ़ाई जाए। इस संबंध में यहां जल्द ही काम शुरू होने की संभावना है।
इलाहाबाद परिक्षेत्र के बेड़े में शामिल होंगी 50 नई बसें
रोडवेज के बेड़े में अभी हैं 489 निगम की और अनुबंधित गाड़ियां

SOURCE - amarujala

TTE BHUGAT RAHE ANGREJO KA SAJA

Late President Shri A.P.J. Kalam Ne Diya Railway ko " VISION 2030 "

long route trains

LAMBI DURI KE RAIL YATRA MAHANGI HOGI

long route trains

7th Pay Commission News Center: Suresh Prabhu seeks higher pay for Railway Board C...

7th Pay Commission News Center: Suresh Prabhu seeks higher pay for Railway Board C...: Railway Minister Suresh Prabhu has written to chairman of the pay commission, seeking higher payscale for the posts of Chairman of the...

रेलवे में नौकरी कर रहे लोगों के लिए कैट का बड़ा फरमान RAILWAY KE PORMOTION ME KOI RESERVATION NAHI - CAT

केंद्रीय प्रशासनिक ट्रिब्यूनल (कैट) ने रेलवे में तकनीकी कैडर के पुनर्गठन में आरक्षित वर्ग को प्रमोशन देने के मामले में आरक्षण को दरकिनार कर केवल वरिष्ठता के आधार पर प्रमोशन देने की बात कही है। ट्रिब्यूनल ने कहा कि प्रमोशन में कोई रिजर्वेशन लागू न हो।

कैट की एक खंडपीठ ने मंगलवार को रेलवे के डीजल लोकोमोटिव वर्क्स में डीजल टेक्नीशियन ग्रेड-1 के पद पर कार्यरत 39 कर्मचारियों की ओर से दायर एक याचिका के संबंध में यह फैसला सुनाया। उन्होंने रेलवे के उस फैसले को कैट में चुनौती दी थी, जिसमें कैडर का पुनर्गठन करते हुए एससी/एसटी कोटे के कर्मचारियों को प्रमोशन में लाभ पहुंचाया गया था।

इन कर्मियों ने रिजर्व कैटेगरी के कर्मचारियों को प्रमोट कर दिए जा रहे लाभ को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी। इसमें कहा गया था कि यह कैडर में 50 प्रतिशत से ज्यादा की रिजर्वेशन पा रहे हैं। याचिकाकर्ताओं के मुताबिक रेलवे के पास ऐसा कोई डाटा नहीं है, जिसके मुताबिक सही रूप से रिजर्व कैटेगरी को प्रमोशन का लाभ मिले।

रेलवे के गुरपिंदर सिंह समेत अन्य टेक्नीशियनों ने भारत सरकार, डीजल लोकोमोटिव वर्क्स पटियाला के सीएओ के खिलाफ अर्जी दायर की थी।

याचिकाकर्ताओं के अनुसार उन्होंने वर्ष 1990-92 में डीजल टेक्नीशियन ग्रेड-1 के तौर पर रेलवे में नौकरी शुरू की थी। इसके बाद वह वर्ष 1995 से 2000 के बीच ग्रेड-टू व ग्रेड-1 में प्रमोट हुए। अक्तूबर 2013 में रेलवे ने फैसला किया कि 1 नवंबर 2013 को कुछ कैडर का पुनर्गठन करेगा।

इसके अनुसार सीनियर टेक्नीशियन के 31 पद रिक्त पाते हुए इन पर डीजल टेक्नीशियन ग्रेड-1 के रूप में कार्यरत कर्मियों के जरिए भरने की बात कही। मई 2014 में कैट ने पुनर्गठन में रिजर्वेशन के माध्यम से अतिरिक्त लाभ पहुंचाने पर रोक लगा दी थी।

खंडपीठ ने याचिका दायर करने वालों की दलीलें सुनने और सभी पहलुओं पर गौर करते हुए याचिका को स्वीकार कर लिया। अपने फैसले में खंडपीठ ने कहा कि रिकार्ड में ऐसा कुछ सामने नहीं आया है कि रेलवे ने एससी/एसटी की रिप्रेजेंटेशन पर कोई स्टडी की हो। साथ ही कैट ने कहा कि यदि कैडर में संबंधित पदों को लेकर पुनर्गठन में रिजर्वेशन जारी किया गया तो सीनियर टेक्नीशियन के पद पर आरक्षित कैडर तय सीमा से आगे बढ़ जाएगा।

खंडपीठ ने कैट डीएलडब्ल्यू पटियाला को आदेश देते हुए कहा कि तकनीकी कैडर के पुनर्गठन में आरक्षण को दरकिनार किया जाए और प्रमोशन में केवल वरिष्ठता को आधार बनाया जाए। साथ ही सभी योग्य ग्रेड-एक के टेक्नीशियंस को सीनियर टेक्नीशियंस के ग्रेड के पदों पर समायोजित किया जाए।

SOURCE - chandigarh.amarujala

 

NEXT POST

EMPLOYEE NEWS CENTER

READ MORE -

Rail News - Public service (4210) Rail News - Public service (3470) Rail News - Rail Employee (2318) DIVISION - JABALPUR (357) Rail News - Rail Development (315) News - Spl Train (262) News - General (225) DIVISION - BHOPAL (202) Rail News - Job - Career (200) Rail news - Metro (193) Rail News - Circulars (138) DIVISION - HUBLI (128) DIVISION - MORADABAD (122) Office Order (105) DIVISION - ALLAHABAD (93) World Rail News (85) Rail news - Public Alert (79) News - Loco Pilot (73) Rail News - Rail Budget (69) HIGH SPEED RAIL (68) Rail News - 7th Pay Commission (62) Rail News - New Train (61) Improvement in Facilities (58) Rail News - Railway Safety (58) Accidents (55) Rail Development (54) Rail news - World Rail (49) Rail News - Tourism (38) News- Railway Exam Result (35) Rail News - Freight Services (35) DIVISION - Delhi (34) Public Interest (32) Rail News - Sports (32) Trade Union (32) Award (30) Bonus (PLB) (30) PIB (29) Bullet train (28) new line (26) IRCTC (25) News - Dearness Allowance (24) Station Master (23) TATKAL TICKET (22) RPF / RPSF (21) Railway News - Metro (20) Complaint and Suggestions (19) Rail News - Security (19) News - Catering (18) News - Job - Career (18) Mumbai local (17) Railway Pensioners (17) Railway time table (17) News - New Tech (16) News - Railway Employee (16) ‘Premium’ Special Trains (15) Circulars - Govt of India (14) Rail News - Railway Revenue (14) Rail news - Employment Notification (14) Railway News - Delhi Metro (14) Know About (13) Rail News - Special Train (13) Scam (13) Railway Board (12) Railway Joke (12) Catering Related Complaints (11) DIVISION - RAIPUR (11) Freight Corridor (11) Rail News - Security (11) Dedicated Freight Corridors (10) AISMA (9) Rail News - New Rail Line (9) Budget (8) DIVISION - Ambala (8) Employee News (8) News - Exam Result (8) PHOTO (8) Passenger Amenities (8) Premium Air-Conditioned (8) Railway pass (8) World Rail - China (8) fares hikes (8) semi-high speed (8) INCOME TAX (7) Indian Railway History (7) Night Duty Allowance (7) Rail Accidents (7) Rail budget (7) online tickets (7) Central Railway (6) International Railway (6) Mono Rail (6) Mumbai Metro (6) News - Budget (6) Public Grievances (6) Rail Fares (6) Railway Safety (6) Ticket Booking (6) World Rail - Japan (6) extra coaches (6) guard (6) Always Important (5) Drinking Water (5) HELP (5) Holiday Trains (5) IRCON (5) LOCOMOTIVE (5) Zone - Western Railway (5) booking counters (5) hi-tech (5) macp (5) Coaches (4) Food plazas (4) IMPORTANT RULE (4) Mumbai (4) News - Railway Rule (4) RAIL TEL (4) Rail History (4) Rail Neer (4) Rail News - Business (4) Rail News - Rules (4) Railway Minister (4) Train Cancellation (4) World Rail - Pakistan (4) Zone - South Central Railway (4) e-ticket booking (4) escalators (4) AIR - RAIL (3) Booking - Parcel (3) CCTV (3) Children Education Allowance (3) DOUBLE DECKER TRAIN (3) Electrification (3) Konkan railway (3) Medical Allowance (3) Member Engineering (3) Modal Question Paper (3) News- Railway Exam (3) PASS (3) Question Bank (3) Rail News - China (3) Rail fare hike (3) Suvidha Train (3) TRANSFER POLICY (3) VAISHNO DEVI (3) reservation (3) tatkal ticket (3) Booking - Luggage (2) D & A RULE (2) Extension of train services (2) Khumbn Mela (2) LDCE (2) Leave Rule (2) MATHERAN (2) MOBILE APPS (2) Minister of State for Railways (2) National Rail Museum (2) News - Rail Road (2) News -World Film (2) OROP (2) Passenger Reservation System (2) Police help desk (2) Provident Fund interest (2) Rail News - Goods Train (2) Railway Protection Force (2) Railway Proud (2) Railway Stations (2) Retiring Rooms (2) Revenue earnings (2) South Eastern Railway (2) Zone - East Central Railway (2) Zone - N E RLY (2) Zone - Northern Railway (2) Zone - Southern Railway (2) new pension scheme (2) ALER (1) Air Travel (1) DIVISION - CENTRAL RAILWAY (1) DIVISION - MADURAI (1) DIVISION - VIJAYWADA (1) Directory (1) Division - Rangia (1) FOOT OVER BRIDGE (1) FORMS (1) Government Railway Police (1) House Rent Allowance (1) Interesting Facts (1) JAIPUR (1) LARGESS (1) LONDON (1) Lifeline Express (1) MST (1) Measures Against Fire (1) Medical Care (1) Ministry of Railway (1) News - TV (1) Passenger Security (1) RDSO (1) Rail - Roko (1) Rail Bridges (1) Rail News - Privatization (1) Rail News - Bengali (1) Rail News - Consumer Forum (1) Rail Tariff (1) Rail Tenders (1) Rail e-tickets (1) Railway Act (1) Railway Quarter (1) Railway Week (1) Rath Yatra (1) Road over Bridges work (1) SCRA (1) SKY BUS (1) Sainagar Shirdi (1) Suburban trains (1) Swadeshi (1) TRAVELLING ALLOWANCE (1) Ticket Examiner Staff (1) Track Man (1) WhatsApp (1) World Rail - New York (1) World Rail - Russia (1) World Rail - USA (1) World Rail - Washington (1) Zone - E RLY (1) Zone - N C RLY (1) Zone - North Western Railway (1) Zone - Northeast Frontier Railway (1) Zone - S E Railway (1) fire-fighting equipment (1) mobile ticket booking (1) railway station (1) smart card (1) wagon factories (1)

7th Pay Commission & Employee News Center

Followers